रविवार, 6 फ़रवरी 2022

326 -मेरी लता

 डॉ.कविता भट्ट 'शैलपुत्री'



 


मेरी माँ ने मुझे कई बार बताया कि मेरा जन्म हमारे मिट्टी
-पत्थर वाले गोबर से लीपे हुए पहाड़ी घर में हुआ। मेरी माँ पुराने हिंदी फिल्मी गानों की बहुत शौकीन हैं और बहुत अच्छा गाती भी हैं।  उन दिनों शहर नगर गाँव -गाँव रेडियो ही मनोरंजन का सर्वसुलभ साधन था। मेरे जन्म के समय रात को आकाशवाणी विविध भारती पर कार्यक्रम छायागीत चल रहा था, गीत बज रहा था , 'शोखियों में घोला जाए , फूलों का शबाब ....' चित्रपट था प्रेम पुजारी और अमर स्वर सम्राज्ञी लता जी तथा अविस्मरणीय किशोर दा ने अपने सुरों से झंकृत किया था। गीतकार ‘नीरज’ के शब्दों को अपनी विशारद ध्वनि से झंकृत कर आत्मा तक पहुँचाने वाली लता दीदी का पूरे संगीत जगत के साथ ही जनसामान्य के मानस पटल पर एक छत्र आधिपत्य था।

मेरा जन्म वर्ष 1979 वसंत ऋतु में हुआ; उल्लेखनीय है कि प्रेम पुजारी फिल्म 1970 में रिलीज हुई थी, लेकिन इस फ़िल्म के गीत हवाओं में गुंजायमान थे और सदियों तक रहेंगे।

लता जी पर कुछ भी लिखना दुस्साहस है। उनकी आत्म तरंगित ध्वनि ने गीतों के माध्यम से मुझ जैसे कोटि- कोटि लोगों को दुःख में सम्बल और सुख में उमंग दी। लता जी आपका स्थूल शरीर तो आज प्रकृति में विलीन हो गया; किंतु सूक्ष्म रूप से आप सदियों तक करोड़ों हृदयों के सिंहासन पर विराजमान रहेंगी।

 

लता जी आपने हमारी प्रत्येक संवेदना और भाव को आवाज दी। हमें जीवन दिया।

आपके गीतों के संग्रह  मैंने  उस समय से रिकॉर्डिंग करवा कर रखे, जब मैं 500 रुपये मात्र की नौकरी करती थी और एक कैसेट की रिकॉर्डिंग रु 250 तक में होती थी। उन गीतों की रिकॉर्डिंग पर होने वाले खर्च मेरे अपने पैसे से ही होते थे; लेकिन फिर भी घरवालों के ताने मिलते थे। लेकिन जिद्द थी आपके गाने अपनी पसंद से टेप रिकॉर्डर पर सुनने की, तो ताने एक तरफ रख दिए। जब पेनड्राइव का माना आया तो वे सब सैकड़ों कैसेट अप्रासंगिक हो गए। गाना सुनने का माध्यम बदल गया, लेकिन आवाज वही रही जिससे आह निकल जाए ऐसी लता।

 

एक बार किसी बस में मेरी पसंद का गाना बज रहा था, केवल 5 किमी की यात्रा अतिरिक्त की, ताकि वह गाना पूरा सुन सकूँ

हजारों संस्मरण हैं ऐसे।

 अए मेरे वतन के लोगो ! गीत तो  प्रत्येक देशप्रेमी की आवाज़ बन गया और आज का दिन देखिए-प्रदीप जी की जयन्ती भी है आज!

आप अंतिम साँस तक गुनगुनाई जाएँगी। वस्तुतः लता एक युग का नाम है- सदियों तक अविस्मृत !

श्रद्धावनत अश्रुपूरित सुमन लता जी!

9 टिप्‍पणियां:

  1. विश्व में इतनी अवधि तक कोई स्वर की सरिता बहाता रहा हो, वह केवल लता ही हो सकती हैं। भारत के इस गौरव को हार्दिक श्रद्धांजलि भावपूर्ण लेख शैलपुत्री जी।

    जवाब देंहटाएं
  2. अश्रुपूरित नमन लता जी को। संगीत की दुनिया में खालीपन सा छा गया। आपके संस्मरण भावपूर्ण !

    जवाब देंहटाएं
  3. स्वर मलिका विराट व्यक्तित्व की धनी को विनम्र श्रद्धांजलि आपने उनके विषय में बड़ी सुंदरता से अपने मन के भावों को प्रकट किया

    जवाब देंहटाएं
  4. अश्रुपूरित श्रद्धांजलि

    जवाब देंहटाएं
  5. सादर नमन स्वर सम्राज्ञी को।

    जवाब देंहटाएं
  6. सुर की मल्लिका को सादर नमन।

    जवाब देंहटाएं
  7. सुर सम्राज्ञी लता जी को विनम्र श्रद्धांजलि।
    खूबसूरत भावांजलि।

    जवाब देंहटाएं
  8. अपूर्णीय क्षति, ॐ शांति ॐ 😭😭😭🙏

    जवाब देंहटाएं
  9. Slot Machines & Casino - Mapyro
    A map 거제 출장마사지 showing 김포 출장마사지 Slot Machines & Casino. 전라북도 출장마사지 여수 출장마사지 Las Vegas. 777 Casino Blvd, Las Vegas, NV 89109. 공주 출장샵 (702) 770-3350.

    जवाब देंहटाएं